दिगंबर जैन मंदिर झालरापाटन

झालरापाटन

झालरापाटन नगर में शांतिनाथ दिगंबर जैन मंदिर में आचार्य कुशाग्र नंदी महाराज का ससंघ मंगल प्रवेश हुआ ।इस मौके पर आयोजित धर्म सभा में आचार्य नंदी ने झालरापाटन के शांतिनाथ दिगंबर जैन मंदिर पर प्रकाश डाला । उन्होंने कहा कि शांतिनाथ भगवान का यह मंदिर ऊर्जावान है , किंतु समाज की ऊर्जा लेने की पद्धति ठीक नहीं है । इसके कारण समाज इसका लाभ नहीं ले पा रहा है । शांतिनाथ भगवान के समीप 4 प्रकार के देव हैं ।उनको न उचित नाम दिया और न ही उनका ठीक से प्रबंध किया । उन्होंने कहा कि मंदिर पूरी तरह वास्तु कला से परिपूर्ण है । इसकी ऊर्जा समाज को उचित प्रबंध कर लेनी चाहिए ।आचार्य कुशाग्र नंदी महाराज के साथ मुनि अजय सागर महाराज व भटारक अरिहंत ऋषि शामिल हैं। इनके तत्वावधान में पांच विधान हुए ।
विधान की पूजा से माहौल धर्ममय हो गया ।

झालरापाटन.ऊर्जा भारत कैंपेन के जरिए तनाव मुक्त भारत का निर्माण विषय पर ऊर्जा गुरु भटारक अरिहंत ऋषि ने विचार साझा किए।उन्होंने कहा कि देश के हर छोटे बड़े वर्ग को तनाव मुक्त रहने के लिए ध्यान व योग को अपनी आदत बनानी हाेगी।